दुनिया की सबसे बड़ी चीज क्या है ? Akbar Birbal Story In Hindi With Moral

Akbar Birbal Story In Hindi With Moral

एक बार की बात है बीरबल किसी कारणवश दरबार में उपस्थित ना हो सके तभी मौके का फायदा उठाते हुए सभी मंत्री गण बीरबल के खिलाफ बादशाह अकबर के कान भरते हुए बोले – बादशाह क्षमा करें किंतु आप हर प्रकार की जिम्मेदारी केवल बीरबल को ही देते हैं, केवल बीरबल की ही सलाह लेते हैं, कृपा एक मौका हमें भी दीजिए हम साबित कर देंगे कि हम बीरबल से ज्यादा योग्य हैं।

अकबर ने गौर से अपने मंत्री गणों की बात सुनी। वे बीरबल के खिलाफ ऐसे जले – कटे शब्द सुनना कतई बर्दाश्त नहीं करते थे किंतु कुछ कहकर अपने मंत्री गणों का हृदय भी नहीं तोड़ना चाहते थे। तब अकबर बोले – “ठीक है हम आप सभी को आपकी योग्यता साबित करने का एक मौका देते हैं, हम आप सभी से एक सवाल का जवाब चाहते हैं और यदि आप इस सवाल का सटीक जवाब नहीं दे पाए तो आप सभी को फांसी की सजा दी जाएगी”।

Akbar Birbal Story In Hindi With Moral.
Akbar Birbal Story In Hindi With Moral

सभी मंत्री गण झिझकते हुए – ठ… ठीक है महाराज, हमें आपकी शर्त मंजूर है किंतु पहले आप सवाल तो पूछिए।

अकबर – दुनिया की सबसे बड़ी चीज क्या है ?

यह सवाल सुनते ही सभी मंत्री गण एक दूसरे की शक्ल देखने लगे। आखिर इसका जवाब ढूंढने के लिए उन्होंने बादशाह से कुछ दिनों की मोहलत मांगी बादशाह ने सहमति जताते हुए उन्हें कुछ दिनों की मोहलत दे दी। महल से बाहर निकलकर सभी मंत्री गण राजा के सवाल पर अपनी – अपनी राय देने लगे। पहला बोला – “दुनिया की सबसे बड़ी चीज है भगवान“, “दूसरा बोला – दुनिया की सबसे बड़ी चीज है भूख“, तीसरा पहले दोनों का जवाब नकारते हुए बोला – “नहीं, भगवान कोई चीज नहीं है और भूख को भी बर्दाश्त किया जा सकता है”।

धीरे-धीरे दिन गुजरते गए किंतु उन्हें अभी तक इसका कोई जवाब नहीं मिल पाया। आखिरकार बादशाह से लिया गया वक्त भी समाप्त हो गया। अब उन सभी को अपनी जान की फिक्र होने लगी। वे जानते थे कि अब केवल बीरबल ही उन्हें इस समस्या से निजात दिला सकते हैं। तब वे सभी बीरबल के पास पहुंचे और सारी घटना बीरबल को जो कि त्यों सुना डाली। बीरबल इस बात से पहले ही परिचित थे।

बीरबल – मैं तुम सभी की जान बचा सकता हूं लेकिन तुम्हें वही करना होगा जो मैं कहूं।

सभी मंत्री बीरबल की बात पर सहमत हो गए।

अगले दिन बीरबल ने एक पालकी का इंतजाम करवाया। दो मंत्रियों को पालकी उठाने का काम दिया, तीसरे से अपना हुक्का पकड़ाया और चौथे से अपने जूते उठो आए और स्वमं पालकी में बैठ गए फिर उन्हें राजा के महल की ओर चलने का इशारा दिया।

जब वे सभी बादशाह अकबर के महल पहुंचे तो बादशाह को यह दृश्य देखकर थोड़ा अचंभा हुआ। इससे पहले कि अकबर बीरबल से कुछ पूछते बीरबल ने पहले ही पालकी में बैठे – बैठे आवाज लगाई “महाराज दुनिया की सबसे बड़ी चीज है ‘गरज’ अपनी गरज के कारण ही ये सब मेरी पालकी को उठाकर महल तक लाए हैं।”

बीरबल की चतुराई और अपने मंत्री गणों के झुके सिर देखकर बादशाह जोर – जोर से हंसने लगे।

Related Post

मोम का शेर

बीरबल की खिचड़ी

सोने का खेत

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.